Abhi Sharma
0
All posts from Abhi Sharma
Abhi Sharma in Abhi Sharma,

डॉलर चीनी केंद्रीय बैंक के बयान पर कमजोर हो गया

कल प्रमुख समकक्ष मुद्राओं के बनाम डॉलर नीचे चला गया और इसके अलावा डॉलर सूचकांक भी नीचे गया जो छह प्रमुख मुद्राओं की तुलना में डॉलर की कीमत बताता है, चीनी केंद्रीय बैंक के बयान बाद कि वह विदेशी मुद्रा बाजार में अपना हस्तक्षेप कम कर देगा। तो सार यहाँ यह है कि चीन युआन व्यापार बैंड का अगले पांच वर्षों में विस्तार करेगा मुद्रा को अधिक लचीला और बाजार संचालित बनाने के लिए और बाजार अर्थव्यवस्था में एक निर्णायक भूमिका निभाएगा।  यह सबूत है कि पिछले कुछ वर्षों में लचीलापन की दिशा में चीन के सभी कदमों के परिणामस्वरूप डॉलर सूचकांक के मूल्य में कमी आइ है। अगर युआन परिवर्तनीयता हासिल करता है तो यह अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष के विशेष आहरण अधिकार टोकरी में शामिल किया जा सकता है जिसका मतलब है कि युआन एक अतिरिक्त आरक्षित मुद्रा के रूप में माना जाएगा और अमेरिकी डॉलर का शेयर कम हो जाएगा। विश्लेषकों के अनुसार, डॉलर येन और यूरो के बनाम मजबूत हो जाएगा क्योंकि फेड 2014 के पहली तिमाही में मौद्रिक प्रोत्साहन में गिरावट शुरू करने की सोच रहा है।