Shriya Dutta
0
All posts from Shriya Dutta
Shriya Dutta in Shriya Dutta,

रेनमिन्बी के लिए तैयार हैं?

चीन का हमेशा से तथाकथित पश्चिमी दुनिया के साथ एक अनूठा संबंध रहा है खासकर जब व्यापार और आर्थिक मामलों की बात आती है।

जो शुरू में सिल्क रोड के द्वारा व्यापार से आकर्षक लाभ प्राप्त करने का एक प्रयास था अब ब्रिटेन के राजकोष के चांसलर जॉर्ज ओसबोर्न के द्वारा एक खोज के रूप में विकसित किया गया है यह सुनिश्चित करने के लिए कि चीनी रॅन्मिन्बी दुनिया की वित्तीय राजधानी में अपनी सही जगह को प्राप्त कर सके क्योंकि वर्तमान में इसका स्थान नौवां सबसे अधिक कारोबार करनेवाला अंतरराष्ट्रीय मुद्रा के रूप में है।

शायद ऐसा हुआ लक्जमबर्ग में अपना व्यापार को खोने के बाद जहां कानून कम सख्त होते हैं, और शायद इस तथ्य के साथ कि चीन ने ब्रिटिश निवेशकों को चीन के भारी प्रतिबंधित पूंजी बाजार में $1.31 अरब निवेश करने की अनुमति दी है।

चीनी कंपनी ब्रिटेन के भीतर बुनियादी ढांचे क्षेत्र के विकास में बड़े खिलाड़ी के रूप में  देखे जा रहे हैं उनके मैनचेस्टर हवाई अड्डे में और ब्रिटेन के हिन्कली परमाणु परियोजना में 30% की रूचि के साथ।

इसके अतिरिक्त] चीन में स्थित बैंकों को लंदन में थोक बैंकिंग शाखाओं की स्थापना के लिए अनुमति दी जाएगी जिससे उम्मीद है कि ब्रिटेन में चीनी निवेश में वृद्धि होगी क्योंकि थोक बैंकिंग बड़े निगमों और वित्तीय संस्थानों को सेवा प्रदान करता है।

लंदन और बीजिंग युआन को स्टर्लिंग के खिलाफ सीधे कारोबार करने की अनुमति दे रहे हैं प्रभावी ढंग से डॉलर को दरकिनार करके और लेन.देन की लागत को कम करके।

सभी लक्षण चीन का वैश्विक अर्थव्यवस्था में मुद्रा की स्थिति मजबूत बनाने के लिए होड़ की ओर इंगित कर रहे हैं।

स्रोत: सीएमई समूह